Love & Marriage

कुंडली का पंचम भाव जीवन में प्यार की स्थिति बताता है. सप्तम भाव से पंचम भाव का संबंध प्रेमविवाह को इंगित करता है. शुक्र की स्थिति भी विचारणीय है. विवाह और जीवनसाथी की स्थिति के लिए सप्तम भाव, शुक्र, मंगल और बृहस्पति का अध्ययन किया जाता है. प्रेम और विवाह में आ रही अड़चनों में ज्योतिषीय उपाय बेहद कारगर साबित होते हैं.

Note : इस सेवा के लिए अधिकतम दो दिन का समय लगेगा.

Fifth house of birth chart is the house of love. Relation of seventh house with fifth house indicates love marriage. Position of Venus is also a major point of consideration. A detailed study of seventh house, Venus, Mars and Jupiter is required to understand the area of marriage and life partner. Astrological solutions can be a great help for love and marriage related problems.

Note : This service will take maximum two days.